13 मार्च, 2018

हाइकू

१-है मन मेरा
सरिता जल जैसा
उर्म्मी उठी

२-माता व् पिता
दो पहिये गाडीके
चलते चलें

३-उमंग भरी
है मन की साधना
सब से खरी

४-होली के रंग
खेले प्रियतम से
उदासी मिटी