24 फ़रवरी, 2015

होली की तरंग

दूध में भंग
होली की तरंग में
मन मस्ती में |

बहकाता है
तेरा रंग मुझको
बड़े प्यार से

सुन सजना
होली का रंग फीका
तू है कहाँ |

उड़ा गुलाल
बरसाने की होली
है लट्ठमार |

लाली लिए हैं
अनुराग के रंग
तेरे प्यार की |
आशा