09 सितंबर, 2016

मित्र ( हाईकू )

कृष्ण सुदामा 
मित्रता की मिसाल 
जग जानता |

हों सच्चे मित्र 
कैसे जाना जा सके 
वख्त बताए |

हैं सभी मित्र 
बचपन से हम 
नहीं बिखरे |

आज परिक्षा 
हम सच्चे मित्रों की 
सफल होंगे |

सच्चा मित्र 
खोजे नहीं मिलता 
सब जानते |

सही राय दे 
गलत कभी नहीं 
है वही मित्र |

आशा