21 अगस्त, 2016

हाईकू




धूमिल हुई
इवारत प्यार की
पढ़ी न गई |

मन मंदिर
तन का है पिंजरा
किसको चुने |


सारी अदाएं
बचाईं तेरे लिए
तुझे रिझाएँ |

है पुजारिन
वह तेरी छबि की
तूने न जाना |

गीत प्यार के
लगते मीठे बोल
आया सावन |

झूला झूलती
है बहिनभैया की
है तीज आज |

आशा