13 फ़रवरी, 2018

हाईकू

                                                      १-     विरक्त भाव
                                                           चेहरे पे  थकन
                                                     गहन सोच

२-नीर भारत
 हिया मेरा कम्पित
छलके नैन

३-वह  सोचती 
तुलसी का बिरवा
 यादों में खोती 

४-थीं  उदास वे 
पुस्तकों का सान्निध्य 
उदासी दूर 

५-तेरी चाहत
 बनी पैरों की बड़ी 
बढ़ने न दे 

६-वह सक्षम
 निर्भय व साहसी 
नारी सबल 

७-नारी सबला
 अवला न समझो
है आधुनिका 

८-ये कैसे रिश्ते 
राह चलते बने 
वे प्रिय लगे 

आशा