25 नवंबर, 2018

हाईकू

भोर का गीत
मीठा मधुर गीत
है यही रीत

प्रातः बेला में 
कोकिला का संगीत 
मधुर होता

सांझ सबेरे 
रौशनी की झलक 
नव अंदाज 

कर्ज की मार 
मंहगाई का वार 
टूटी कमर |

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Your reply here: