27 अगस्त, 2013

कान्हां ने धूम मचाई



पहन कर पीली कछौटी
ओढी काली कमली
मोर मुकुट शीश पर सजाया
 लाठी हाथ में ले कर  |
वन में जा कर धेनु चराई 
फिर बंसी बजाई रास रचाया
कान्हा ने धूम मचाई
वृन्दावन की गलियों में |
चुपके से ऊपर चढ़ कर
दूध दही माखन की मटकी
धीरे से चटकाई
 नटखट मोहन ने |
कुछ खाया कुछ फैलाया
कुछ साथियों को खिलाया
की सीनाजोरी फिर भी
भेद न छुप पाया |
माखन मुंह पर लगा था
कुछ कपड़ों ने भी खाया था
गुजरियों के तानों से
हो कर त्रस्त उल्हानों से 
 माँ यशोदा ने
हाथ पैर रस्सी से बांधे |
क्षमा तब भी न माँगी
रो रो सर पर घर उठाया
खुद को पराया जाया कहा
झूठमूट गुस्सा दिखाया
माँ का मन टटोलना चाहा |
यशोदा माँ हुई आहात
रस्सी से मुक्त किया मोहन को
गोद में तुरंत उठाया
सारा क्रोध भूल गयी
हृदय से उसे लगाया |
गोपिया बिचारी क्या करतीं
जब माँ के पल्लू में मुंह छिपाया
माँ को रक्षा कवच जान
मन ही मन में हर्षाया |

आशा

29 टिप्‍पणियां:

  1. जन्माष्टमी की शुभकामनायें-
    जय हे मनमोहन -

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर आशा जी..जन्माष्टमी की शुभकामनायें-

    जवाब देंहटाएं
  3. ati sundar rachna !!
    प्रिय मित्रो , आपका हार्दिक स्वागत है हमारे ब्लॉग पर " 5TH PILLAR CORRUPTION KILLER " the blog . read, share and comment on it daily plz. the link is - www.pitamberduttsharma.blogspot.com., गूगल+,पेज़ और ग्रुप पर भी !!ज्यादा से ज्यादा संख्या में आप हमारे मित्र बने अपनी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर !! आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ आयें इसी मनोकामना के साथ !! हमेशां जागरूक बने रहें !! बस आपका सहयोग इसी तरह बना रहे !! " फिफ्थ पिल्लर - कोरप्शन किल्लर " की रिपोर्टें आप हमारे ब्लॉग और समाचार पत्रों के इलावा इस ब्लॉग और संचालक टीम के संयोजक श्री पीताम्बर दत्त शर्मा की फेसबुक , गूगल+, और उनके पेज पर भी पढ़ सकते हैं !! उनका लिंक ये है www.facebook.com/pitamberdutt.sharma.7 और ब्लॉग लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. है !!
    अपने अनमोल विचारों को हमारे ब्लॉग " 5th pillar corruption killer " पर आकर अवश्य टाईप करें ! क्योंकि आपके विचारों पर ही हमारी हिम्मत बढती है जी !! ब्लॉग का लिंक ये है :- www.pitamberduttsharma.blogspot.com. रोज़ाना हमारे ब्लॉग पर पधारें ,आप भी पढ़ें ,अपने सभी मित्रों को भी पढ़ायें और अपने कोमेंट्स भी जरूर लिखें !!
    आपका मित्र ,
    पीताम्बर दत्त शर्मा (राजनितिक -समीक्षक ),
    हेल्प-लाईन-बिग-बाज़ार ,
    पंचायत समिति कार्यालय के सामने ,
    सूरतगढ़ ,राजस्थान ,09414657511
    Posted by PD SHARMA, 09414657511 (EX. . VICE PRESIDENT OF B. J. P. CHUNAV VISHLESHAN and SANKHYKI PRKOSHTH (RAJASTHAN )SOCIAL WORKER,Distt. Organiser of PUNJABI WELFARE SOCIETY,Suratgarh (RAJ.) —

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर कान्हा चित्रण... जन्माष्टमी की बहुत बहुत बधाई ....

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद रंजना जी |जन्म अष्टमी पर हार्दिक शुभ कामनाएं

      हटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  6. श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का बहुत ही मनोहारी चित्रण किया है ! बहुत सुंदर रचना ! आप सभीको जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें !

    जवाब देंहटाएं
  7. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  8. आज की बुलेटिन ऋषिकेश मुखर्जी और मुकेश .... ब्लॉग बुलेटिन में आपकी पोस्ट (रचना) को भी शामिल किया गया है। सादर .... आभार।।

    जवाब देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर ...जन्माष्टमी की शुभकामनायें

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको भी जन्म अष्टमी पर शुभ कामनाएं |
      आशा

      हटाएं
  10. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - बुधवार- 28/08/2013 को
    हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः7 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें, सादर .... Darshan jangra

    जवाब देंहटाएं



  11. _/\_
    जयश्री कृष्ण !
    श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बधाइयां और शुभकामनाएं !
    ✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿



    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. काफी समय बाद आपकी टिप्पणी मिली है |आपको भी हार्दिक शुभ कामनाएं जन्मअष्टमी के अवसर पर |

      हटाएं
  12. उत्तर
    1. टिप्पणी हेतु धन्यवाद |पोस्ट जल्दी ही देखूंगी |

      हटाएं
  13. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई और शुभकामनायें!

    जवाब देंहटाएं
  14. खुबसूरत अभिवयक्ति......श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें......

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको भी जन्म अष्टमी पर हार्दिक शुभ कामनाएं |

      हटाएं
  15. बालकृष्ण की लीलाओं का मनमोहक वर्णन ।

    जवाब देंहटाएं

Your reply here: