21 अक्तूबर, 2018

कहाँ कमी रह गई



कहाँ कमी रह गई
बच्चों के पालन पोषण में  
  संस्कार विहीन
 पैदा हुए |
कभी कभी ऐसा लगता है
 बदल तो न गए हों
या मुझमें ही कोई
 कमी रही हो
जो मैं  ठीक  ढंग से
 उनके व्यवहार को
 सही दिशा न दे  पाई
पर अन्दर
 झाँक कर देखा
आत्म विश्लेषण लिया
कहीं कोई कमी
 न दिखाई दी
किसको दोष दूं 
खुद को या  प्रारब्ध को
या भगवान की
 दी हुई सजा मानू
जाने किस जन्म की 
सजा दी है मुझे |

आशा

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Your reply here: