01 सितंबर, 2020

बढ़ती उम्र का पुरस्कार




एक उम्र गुजर जाने पर
 समय लौट तो नहीं पाता
पर जीवन में बड़ा बदलाव
अवश्य आ जाता है |
इस उम्र तक आते आते
एक विश्वास खुद के अंतर मन में
जाग्रत हो जाता है
 किसी का संबल यदि मिले |
स्वप्न जो सजोए थे काली रातों में
होने लगते है साकार
मन मयूर थिरकने लगता है
नृत्य की भंगिमा में परिवर्तन बेमिसाल |
संतुष्टि का भाव झलकने लगता है
हर उस कार्य में जिसमें कभी
  निपुणता की चाह रहती थी
स्वतःही आने लगती है अनुभवों से |
उम्र बढ़ती है समय के थपेड़े खा कर
बुद्धि में निखार आता है
कुछ तो शिक्षा मिल ही जाती है
बीते कल के खट्टे मीठे अनुभवों से |
सफल इंसान है वही
जो जीवन के अनुभवों से कुछ सीखे
आने वाले कल की राह न देख
समय का पूर्ण  सदुपयोग करे |  
आशा
  

11 टिप्‍पणियां:

  1. सफल इंसान है वही
    जो जीवन के अनुभवों से कुछ सीखे
    आने वाले कल की राह न देख
    समय का पूर्ण सदुपयोग करे |
    .....एकदम सही बात

    जवाब देंहटाएं
  2. उत्तर
    1. धन्यवाद सर सही शब्द सुझाने के लिए |मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है शब्द का करेक्शन करके |

      हटाएं
  3. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 3.9.2020 को चर्चा मंच पर दिया जाएगा। आपकी उपस्थिति मंच की शोभा बढ़ाएगी|
    धन्यवाद
    दिलबागसिंह विर्क

    जवाब देंहटाएं
  4. उत्तर
    1. धन्यवाद हिंदी गुरू जी टिप्पणी के लिए |

      हटाएं
  5. बहुत बढ़िया ! सुन्दर अभिव्यक्ति !

    जवाब देंहटाएं
  6. धन्यवाद साधना टिप्पणी के लिए |

    जवाब देंहटाएं

Your reply here: