22 जून, 2022

बंधन कच्चे धागे का



                                     बंधन कच्चे धागे का

दिखता बड़ा कच्चा सा

पर होता इतना प्रगाढ़ 

कि सात जन्मों तक नहीं टूटता |

कितनी भी बाधाएं आएं

उस बंधन पर

कोई प्रभाव नहीं होता

साथ बना रहता जन्म जन्मान्तर तक |

यही विशेषता है उस बंधन की

किसी की नजर नहीं लगती उसको

मन में कभी उलझन कोई चिंता 

कुंठाएं नहीं पनपतीं |

प्यार की क्या बात करें

दिन दूना रात चौगुना

परवान चढ़ता मंजिल पर

परिवार फलता फूलता खुशहाल रहता|

यही सुख मिलता रहे सब को

है यही  ग्रंथि बंधन की विशेषता

कोई अलग न हो एक दूसरे से 

 जन्म जन्मान्तर तक  | 

2 टिप्‍पणियां:

Your reply here: