28 जनवरी, 2021

पिता

                                                                 


आप हो सख्त नारियल फल जेसे
ऊपर से सख्त
पर भीतर एकदम नर्म
नाराज न होते अधिक समय तक |

जब भी कोई गल्ती हो जाती
मन में भर जाते क्रोध से
पर इजहार करते ठन्डे मिजाज से
समझाते बहुत शान्ति से ||

आप की एक दृष्टि ही पर्याप्त होती
गलती फिर कभी न दोहराते
जब इशारे से समझ जाते
तब आप सबसे अच्छे पापा नजर आते |

|आशा




















\
आशा
Banna Rathi
Like
Comment
Share

6 टिप्‍पणियां:

Your reply here: